स्तन कैंसर को खतरे को कम करने में मददगार हैं ये 4 चीज, लंबी होगी उम्र

विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि स्तन कैंसर महिलाओं में होने वाला आम कैंसर है और हर साल 21 लाख महिलाएं इससे प्रभावित होती हैं। यह एक प्रकार का कैंसर, जो स्तन कोशिकाओं में होता है और यह कोशिकाएं अनियंत्रित तरीके से बढ़ना शुरू हो जाती हैं। हाल ही में, वैज्ञानिकों ने राइबोसिक्लिब नामक दवा का एक नया रूप विकसित किया है, जिससे स्तन कैंसर से पीड़ित महिलाओं की जीवित रहने की दर पर प्रभाव को बढ़ावा मिला है। ब्रेस्ट कैंसर के कई लक्षण होते हैं, जिसमें स्तन में गांठ, स्तन में सूजन और स्तन की त्वचा में बदलाव शामिल हैं।

 

स्तन कैंसर आमतौर पर दूध बनाने वाली नलिकाओं में कोशिकाओं के साथ शुरू होता है। उम्र, परिवारिक इतिहास, मासिक धर्म, दौड़, बच्चा न होना, अधिक वजन होना आदि सहित कई कारक हैं  जो स्तन कैंसर के विकास के जोखिम को बढ़ा सकते हैं। स्तन कैंसर का पता लगाने के लिए डॉक्टर स्तन की जांच, मैमोग्राम, स्तन अल्ट्रासाउंड, बायोप्सी या एमआरई करते हैं। कभी-कभार स्तन कैंसर का खतरा इतना बढ़ जाता है कि डॉक्टरों को स्तन निकालना पड़ता है।

 

अगर आप भी खुद को इस स्थिति से दूर रखना चाहती हैं तो कुछ फूड को अपनी डाइट से दूर कर स्तन कैंसर के खतरे को कम कर सकती हैं। हालांकि कोई ऐसा फूड नहीं है जो पूर्ण रूप से स्तन कैंसर के खतरे को रोकता हो लेकिन कुछ फूड इसके खतरे को कम करने में मदद करते हैं। हम आपको ऐसे ही कुछ फूड के बारे में बताने जा रहे हैं, जो स्तन कैंसर के जोखिम को कम करते हैं।

 

1)शराब (Alcohol)

नियमित रूप से शराब का सेवन स्तन कैंसर के बढ़ते जोखिम के साथ जुड़ा हुआ है। शराब संभवित रूप से एस्ट्रोजेन स्तर को बढ़ा सकता है और डीएनए कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाता है, जिसके कारण स्तन कैंसर हो सकता है।

2)शुगर (Sugar)

यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सास के एमडी एंडरसन कैंसर सेंटर द्वारा किए गए एक अध्ययन में खुलासा हुआ कि शुगर से भरपूर डाइट खाना स्तन ग्रंथि के ट्यूमर के विकास में योगदान दे सकता है। केच-अप, स्पोर्टस ड्रिंक, चॉकलेट मिल्क सहित शुगर युक्त फूड ट्यूमर के विकास में योगदान देते हैं।

3)फैट (Fats)

कई अध्ययनों के मुताबिक, प्रोसेस्ड फूड से मिलने वाला फैट स्तन कैंसर के विकास में योगदान दे सकता है। बर्गर, फ्रेंच फ्राइज जैसे फैट से भरपूर प्रोसेस्ड फूड महिलाओं में स्तन कैंसर के खतरे को बढाते हैं।

4)रेड मीट (Red meat)

फैट, सॉल्ट और प्रिजर्वेटिव से युक्त रेड मीट स्तन कैंसर के विकास की संभावना को बढ़ाने वाला पाया गया है। वे महिलाएं, जो रेड मीट का सेवन ज्यादा करती हैं उनमें इस रोग के होने की संभावना अधिक होती है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.