मासूम बच्ची की नृशंस हत्या : एसएचओ सहित पांच पुलिसकर्मी निलंबित

तीन वर्ष की मासूम बच्ची की नृशंस हत्या के मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में टप्पल थाना प्रभारी सहित पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।

बच्ची 30 मई को गायब हुई थी लेकिन मामला 31 मई को दर्ज किया गया।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि ने पीटीआई— को बताया कि पुलिस क्षेत्राधिकारी पंकज श्रीवास्तव द्वारा की गयी जांच के आधार पर गुरुवार को निलंबन की कार्रवाई की गयी।

उन्होंने बताया कि मामले की आगे जांच के लिए पुलिस अधीक्षक ग्रामीण एवं एक महिला इंस्पेक्टर सहित छह सदस्यीय विशेष जांच टीम :एसआईटी: बनायी गयी है।

कुलहरि ने बच्ची के पिता बनवारी लाल शर्मा से मुलाकात कर उन्हें समझाया बुझाया कि वह आमरण अनशन न करें । शर्मा ने आमरण अनशन की धमकी दी थी।

बच्ची के पिता की मांग है कि कथित हत्यारों के परिवार वालों को भी गिरफ्तार किया जाना चाहिए।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि उन्होंने पिता को आश्वासन दिया है कि फास्ट ट्रैक कोर्ट के जरिए तेजी से न्याय सुनिश्चित किया जाएगा।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक दो गिरफ्तार आरोपियों जाहिद और असलम ने जुर्म कबूल कर लिया है । महज 12 हजार रुपये के लिए इस अपराध को अंजाम दिया गया । यह रकम बच्ची के पिता ने उधार ली थी और वह उसे वापस नहीं कर पा रहे थे ।

बच्ची टप्पल कस्बे से 30 मई को गायब हो गयी थी । पुलिस को उसका क्षत-विक्षत शव दो जून को उसके घर के निकट ही कूडे़ के पास मिला।

पुलिस ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बलात्कार की बात नहीं है । रिपोर्ट में बताया गया है कि गला घोंटने के कारण मौत हुई।

कुलहरि ने कहा कि अपराध की गंभीरता को देखते हुए आरोपियों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की प्रक्रिया चल रही है।

टप्पल जिला मुख्यालय से 50 किलोमीटर दूर है। कस्बे में एहतियातन सुरक्षा कडी कर दी गयी है, बुधवार को यहां तनाव व्याप्त हो गया था।

 

TEXT- PTI

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *