पाकिस्तान में आत्मघाती हमले में नौ लोगों की मौत, तालिबान ने ली हमले की जिम्मेदारी

उत्तर-पश्चिम पाकिस्तान में रविवार को एक जांच चौकी पर आतंकी हमले के बाद एक अस्पताल में आत्मघाती विस्फोट किया गया। दोनो हमलो में छह पुलिसकर्मियों समेत कम से कम नौ लोग मारे गए और 40 अन्य घायल हो गए। बुर्का पहनी महिला ने आत्मघाती हमले के जरिये जिस अस्पताल में को निशाना बनाया, उसमें पहले हमले के पीड़ितों को भर्ती किया गया था।

दोनों हमले खैबर पख्तूनख्वा के डेरा इस्माइल खान जिले में हुए, इसके एक दिन पहले ही सूबे के नवगठित कबाइली इलाकों में पहली बार सफलपूर्वक चुनाव संपन्न हुए थे।

जिला पुलिस प्रमुख सलीम रियाज ने मीडिया को बताया कि दो मोटरसाइकिलों पर सवार चार अज्ञात हथियारबंद लोगों ने कोटला सैयदन चौकी पर तैनात दो पुलिसकर्मियों को गोलियों से भून डाला।

अधिकारी ने बताया कि मारे गए पुलिसकर्मियों के शवों को जब जिला अस्पताल लाया गया, तो वहां पहले से ही बुर्का पहने बैठी एक आत्मघाती हमलावर ने एंबुलेंस के पास हमले को अंजाम दिया, उसने एंबुलेंस के आसपास जमा हुए लोगों को निशाना बनाया।

पुलिस ने बताया कि आत्मघाती विस्फोट में चार पुलिसकर्मियों सहित सात लोग मारे गए।’’ उन्होंने कहा कि एक महिला द्वारा आत्मघाती विस्फोट करना क्षेत्र की पहली और अप्रत्याशित घटना है।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, हमलावर ने सिर से पैर तक ढंकने वाला बुर्का पहना हुआ था। पुलिस ने हमलावर के कुछ अंग बरामद किए और उन्हें फोरेंसिक जांच के लिए भेज दिया है।

तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) ने हमले की जिम्मेदारी ली है।

गंभीर रूप से घायल लोगों को इलाज के लिए संयुक्त सैन्य अस्पताल भेज दिया गया। विस्फोट के तुरंत बाद पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे।

रियाज ने कहा कि आत्मघाती विस्फोट में 7 से 8 किलो विस्फोटक का इस्तेमाल किया गया था। उन्होंने दोनों आतंकी घटनाओं में सात लोगों के मारे जाने की पुष्टि की।

उन्होंने कहा कि मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है क्योंकि अधिकांश पीड़ितों की हालत गंभीर है।

उन्होंने कहा कि अस्पताल में पुलिस ने सुरक्षा कड़ी कर दी है।

TEXT-PTI

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.