ट्रंप ने बस्ती का नाम अपने नाम पर रखने पर नेतन्याहू को दिया धन्यवाद

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गोलन पहाड़ी क्षेत्र में एक नई बस्ती के शिलान्यास किये जाने और इसका नाम ‘ट्रंप हाइट्स’ रखने पर इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू को धन्यवाद दिया है। ट्रंप ने रविवार को ट्वीट किया, “इस महान सम्मान के लिए प्रधानमंत्री नेतन्याहू और इजरायल का धन्यवाद।”

इससे पहले रविवार को बस्ती का शिलान्यास करने के दौरान नेतन्याहू ने कहा कि इजरायल यहूदी और गैर-यहूदी लोगों के लाभ के लिए गोलन पहाड़ी क्षेत्र का विकास करना लगातार जारी रखेगा। गौरतलब है कि इजरायल ने विवादित गोलन पहाड़ी क्षेत्र में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के नाम पर एक नयी बस्ती का शिलान्यास किया है। नेतन्याहू ने रविवार को एक समारोह में ‘ट्रंप हाइट्स’ नाम से एक नयी बस्ती बनाने के संकल्प के साथ उसका शिलान्यास किया।नेतन्याहू ने कहा कि गोलन पहाड़ी क्षेत्र पर इजरायल के प्रभुत्व को मान्यता देने के ट्रंप के फैसले के सम्मान में ‘ट्रंप हाइट्स’ नामक नयी बस्ती का निर्माण किया जायेगा।

नेतन्याहू ने अमेरिकी राष्ट्रपति को इजरायल का ‘महान दोस्त’ बताते हुए कहा, “आज का दिन ऐतिहासिक है।” इस अवसर पर अमेरिकी राजदूत डेविड फ्रेडमैन भी मौजूद थे। फ्रेडमैन ने ‘ट्रंप हाइट्स’ का निर्माण किये जाने की प्रशंसा करते हुए इसे सही कदम ठहराया है। नयी बस्ती के निर्माण का कार्य अभी शुरू नहीं हुआ है हालांकि इजरायल-अमेरिका के राष्ट्रीय ध्वज के साथ श्री ट्रंप के नाम वाली एक दीवार का भी उद्घाटन किया गया है।

उल्लेखनीय है कि 1967 में सीरिया के साथ युद्ध के दौरान इजरायल ने गोलन पहाड़ी क्षेत्र को अपने कब्जे में ले लिया था। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मार्च में गोलन पहाड़ी क्षेत्र पर इजरायल के प्रभुत्व को मान्यता देने की घोषणा की थी। इजरायल ने अप्रैल में घोषणा की थी कि गोलन पहाड़ी क्षेत्र में ट्रंप के नाम पर एक नयी बस्ती का निर्माण किया जायेगा। गोलन पहाड़ी क्षेत्र सीरिया की राजधानी दमिश्क से करीब 60 किलोमीटर दूर है और यह क्षेत्र लगभग एक हजार वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.