आंधी-तूफान ने ली 26 लोगों की जान, 57 घायल

उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में आंधी-तूफान और बिजली गिरने से कम से कम 26 लोगों की मौत हो गयी और 57 अन्य घायल हो गये।

प्रदेश के राहत आयुक्त कार्यालय ने शुक्रवार को बताया कि मैनपुरी में सबसे अधिक छह लोग मारे गए हैं जबकि एटा और कासगंज में तीन-तीन लोगों की मौत हुई है। उन्होंने बताया कि बाराबंकी और फर्रुखाबाद में दो-दो लोगों लोगों की मृत्यु हुई है।

राहत आयुक्त के कार्यालय के अनुसार, इसके अलावा मुरादाबाद में खराब मौसम के बीच गिरी बिजली की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मौत हो गयी। बदायूं, पीलीभीत, मथुरा, कन्नौज, संभल और गाजियाबाद मैं भी ऐसी घटनाओं में एक एक व्यक्ति की मृत्यु हुई है।

मिजली जानकारी के अनुसार राज्य के अलग अलग हिस्सों में गुरूवार देर शाम आंधी-तूफान आने की वजह से जगह-जगह पेड़ टूटकर गिर गये और कई मकानों की दीवारें भी ढह गयीं।

इसमें कहा गया है कि इन हादसों में प्रदेश के विभिन्न जिलों में कुल 57 लोग ज़ख्मी भी हुए हैं। सबसे अधिक 41 लोग मैनपुरी में घायल हुए।

इस बीच, राज्य सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने बताया कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आंधी-तूफान से प्रभावित एटा, कासगंज, मैनपुरी, बदायूं, मुरादाबाद, फर्रुखाबाद जनपदों के प्रभारी मंत्रियों को निर्देश दिया है कि वे सम्बन्धित जनपदों का भ्रमण कर राहत कार्य का पर्यवेक्षण करें।

उन्होंने सम्बन्धित जनपदों के जिलाधिकारियों को स्वयं क्षेत्रों का भ्रमण कर राहत वितरित करने के निर्देश भी दिये।

प्रवक्ता ने बताया कि जनपद एटा के प्रभारी मंत्री अतुल गर्ग, जनपद कासगंज के सुरेश पासी, जनपद मैनपुरी के गिरीश यादव, जनपद बदायूं के स्वामी प्रसाद मौर्य, जनपद मुरादाबाद के महेन्द्र सिंह तथा जनपद फर्रुखाबाद के प्रभारी मंत्री चेतन चौहान हैं।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री की ओर से पीडितों के परिजनों को चार-चार लाख रूपये की मदद का ऐलान किया गया है।

बसपा अध्यक्ष मायावती ने राज्य सरकार से पीडि़तों को पर्याप्त राहत एवं मुआवजा देने की मांग की है।

 

TEXT-PTI

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.